पर्यावरण संरक्षण के नियम

औद्योगिक प्रदूषण नियंत्रण हेतु कार्यवाही

प्रमुख प्रदूषणकारी उद्योगों में शुद्धिकरण व्यवस्था स्थापित किए जाने के उद्देश्य से वर्ष 1990 में एक कार्ययोजना तैयार की गयी। जिसमें 17 श्रेणी के अतिप्रदूषणकारी उद्योगों को सम्मिलित किया गया था। इस कार्ययोजना के अन्तर्गत इस श्रेणी के चिन्हित 224 उद्योगों को 21-12-1993 तक प्रदूषण नियंत्रण व्यवस्था स्थापित किए जाने के निर्देश दिये गये थे। इसके अन्तर्गत बृहद एवं मध्यम श्रेणी के 224 चिन्हित उद्योगों में से 180 उद्योगों में जल प्रदूषण तथा वायू प्रदूषण नियंत्रण दोनों ही व्यवस्थायें स्थापित कर ली गयी है। 41 उद्योग बन्द है, 3 दोषी उद्योगों को केन्द्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड द्वारा पर्यावरण (संरक्षण) अधिनियम, 1986 के अन्तर्गत कार्यवाही की जा रही है।

अति प्रदूषणकारी उद्योगों में प्रदूषण नियंत्रण संयंत्र स्थापित करवाने के उद्देश्य से 1997 में प्रारम्भ की गयी कार्ययोजना के अर्न्तगत बोर्ड द्वारा प्रदेश में 454 अत्यन्त प्रदूषणकारी उद्योगों को चिन्हित किया गया है। बोर्ड के प्रयासों से 335 उद्योगों द्वारा शुद्धिकरण संयंत्र लगा लिये गये है। 112 उद्योग बन्द है तथा 07 दोषी उद्योगो में शुद्धिकरण संयंत्र लगवाये जाने की कार्यवाही की जा रही है।