पर्यावरण संरक्षण के नियम

संयुक्त शुद्धिकरण संयंत्र

प्रदेश के विभिन्न स्थानों पर लघु उद्योग समूओं में स्थापित होते है। जिनमें प्रत्येक उद्योग में शुद्धि करण संयंत्र लगाया जाना सम्भव नहीं हो पाता है। इसे दृष्टिगत रखते हुए लघु औद्योगिक इकाइयों से निस्तारित होने वाले उत्प्रवाह के शुद्धिकरण हेतु संयुक्त उत्प्रवाह शुद्धिकरण संयंत्रों की स्थापना की गयी है। इसमें 25 प्रतिशत राज्य सरकार , 25 प्रतिशत केन्द्र सरकार, 30 प्रतिशत बैंक (- . के रूप में) तथा शेष 20 प्रतिशत सहभागी उद्योगों का अंश है।

जल प्रदूषण नियंत्रण हेतु उत्तर प्रदेश में तीन संयुक्त उत्प्रवाह शुद्धिकरण संयंत्रो (सी०ई०टी०पी०) की स्थापना निम्नानुसार की गयी है :

  • उन्नाव में. औद्योगिक क्षेत्र साइट-II एवं बन्थर औद्योगिक क्षेत्र-टैनरी समूह के लिए।
  • कानपुर- टैनरी समूह तथा घरेलू जल मल के लिए।
  • मथुरा. टेक्सटाइल उद्योगों के लिए।
  • गाजियाबाद- टेक्सटाइल उद्योगों के लिए